< img height="1" width="1" style="display:none" src="//q.quora.com/_/ad/8cb7f305ad04491ba48248a6b9cd04f3/pixel?tag=ViewContent&noscript=1"/>
Smart India456
2020-10-17

नवरात्रि पर इन उपायों से जरूर प्रसन्न होती हैं देवी मां, भरता है धन और वैभव का भंडार

  • हेलो दोस्तों नवरात्रि का त्योहार आ गया है और इस त्यौहार पर आपको मैं बताने जा रहा हूं कि आपके ऊपर माता रानी की कृपा कैसे बनेगी तथा धन की प्राप्ति कैसे होगी और वैभव और भंडार आपके पास कैसे आएगा?

credit: third party image reference

  • दोस्तों यदि आप नवरात्रि का पर्व बड़े जोर शोर से मना रहे हैं तो आपको माता रानी की आराधना भी जोर शोर से करनी होगी अर्थात नवरात्रि के किसी भी एक दिन पर आपको माता रानी के ऊपर कमल का फूल चढ़ाना चाहिए। इससे माता रानी आप से खुश होकर आपको मनचाहा वरदान देंगी। तथा इसके साथ-साथ यदि आपके जीवन में कोई भी कष्ट हो रहा है तो माता रानी उस कष्ट को दूर कर देंगी। इसके साथ साथ यदि आप उन पर कमल का फूल चढ़ाते हैं तो माता रानी आपको धन की समस्या से छुटकारा दिलाती है क्योंकि माता रानी को कमल का फूल बहुत ज्यादा पसंद होता है।
  • दोस्तों नवरात्रि के समय यदि आप से कोई गलती हो रही है या हो गई है तो ऐसे समय पर आपको माता रानी से क्षमा मांगनी चाहिए। क्षमा मांगने के लिए आपको माता रानी के मंत्रों का उच्चारण करना होगा।
  • दोस्तों नवरात्रि के समय यदि आप अपने घर के मुख्य द्वार पर स्वास्तिक बनाकर गणेश जी की वंदना करते हैं तो ऐसे में नवरात्रि का पर्व सफल माना जाता है क्योंकि गणेश जी को हर काम में सबसे पहले पूजा जाता है।
  • दोस्तों माता रानी की पूजा में लाल कपड़ा और कोड़ी को अर्पण करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से माता रानी आप से प्रसन्न हो जाती हैं और आपके जीवन में आ रही कठिनाइयों को दूर करती हैं। यदि आप इन नियमों को अपनाएंगे तो नवरात्रि में आपको माता रानी का आशीर्वाद प्राप्त होता रहेगा।
  • दोस्तों यदि आप माता रानी का व्रत रख रहें हैंं तो व्रत में आपको किसी पर गुस्सा नहीं होना चाहिए और ना क्रोधित होना चाहिए क्योंकि व्रत के समय पर यदि आप ऐसा रुख अपनाएंगे तो आपका व्रत किसी काम का नहीं रहेगा और माता रानी का आशीर्वाद भी आपके ऊपर से हट जाएगा।
The views, thoughts and opinions expressed in the article belong solely to the author and not to RozBuzz-WeMedia.
24 Views
2 Likes
1 Shares